“Daily Indian History G.K. Questions 24 /04/ 2019”

“Daily Indian History G.K. Questions 24 /04/ 2019”

Download  Click Here 

 

 

Que. 01   नाभिवर्ष किस देश का ऐतिहासिक नाम है:-

  1. भारत
  2. म्यांमार
  3. चीन
  4. मिस्र

 

 

Answer :–  1.  भारत

 

Notes :—  ऐतिहासिक स्रोतों के अनुसार, भारत का नाम भारतवर्ष का पुराना नाम नाभिवर्ष था जो पहले जैन तीर्थंकर ऋषभदेव के पिता राजा नाभि के नाम पर था।

*********************************************************

Que. 02   निम्नलिखित कथनों पर ध्यान दीजिये:-

1 अंडाल एक महिला संत थी जिसकी रचनाएं व्यापक रूप से गायी जाती थीं|

2- कराइकल अम्माययार शिव के भक्त थे जिन्होंने अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अत्यधिक भक्ति के मार्ग को अपनाया|

इनमें कौन से कथन सत्य हैं?

 

Answer :–     1 और 2 दोनों

 

 

Notes :—  अंडाल एक महिला संत थी जिसकी रचनाएं व्यापक रूप से गायी जाती थीं| इसके अलावा कराइकल अम्माययार शिव के भक्त थे जिन्होंने अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अत्यधिक भक्ति के मार्ग को अपनाया|

*********************************************************

Que. 03    निम्नलिखित में किस भारतीय राजा ने धर्म महामात्त नियुक्त किए थे?

  1. अशोक
  2. समुद्रगुप्त
  3. चंद्रगुप्त I
  4. चंद्रगुप्त मौर्य

 

 

Answer :–  1.  अशोक

 

 

Notes :—  अशोक ने अपने धम्म या धर्म के प्रचार के लिए धर्म महामात्त नियुक्त किये थे जो उसके धर्म का प्रचार करते थे। इसकी जानकारी अशोक के शिलालेख से मिलती है।

*********************************************************

Que. 04   जैन धर्म के 22वें तीर्थंकर कौन थे?

  1. ऋषभदेव
  2. अरिष्टनेमि
  3. पार्श्वनाथ
  4. महावीर

 

 

Answer :– 2.   अरिष्टनेमि

 

Notes :—  जैन धर्म के 22वें तीर्थंकर अरिष्टनेमि थे। उनका वर्णन ऋग्वेद में है। जैन धर्म के पहले तीर्थंकर ऋषभदेव थे। जैन धर्म में कुल 24 तीर्थंकर थे जिनमें से पहले ऋषभदेव और 22वें अरिष्टनेमि का नाम ऋग्वेद में है।

*********************************************************

Que.05   मातृनामा किस वंश के  शासकों द्वारा शुरू किया गया?

  1. मौर्य
  2. गुप्त
  3. सातवाहन
  4. कण्व

 

 

Answer :–3.    सातवाहन

                                

 

Notes :—  मातृनामा अपने नाम के आगे माता का नाम लिखने की प्रथा थी। मातृनामा सातवाहन राजाओ ने शुरू की। उदाहरण के लिए सातवाहन वंश का सबसे महान राजा शातकर्णि था जिसने अपना नाम अपनी माँ गौतमी के नाम पर गौतमीपुत्र शातकर्णि रखा।

*********************************************************

Que. 06   मनु ने किस अपराध के लिए ब्राह्मण को अन्य वर्ण की तुलना में अधिक दंड देने को कहा?

  1. चोरी
  2. हत्या
  3. गाली गलौज
  4. राजद्रोह

 

Answer :–  1. चोरी

 

Notes :—  मनु महाराज ने मनुस्मृति की रचना की। मनुस्मृति के अनुसार चोरी के लिए ब्राह्मण को अन्य वर्ण की अपेक्षा अधिक दंड मिलना चाहिए।

*********************************************************

Que. 07   “राजा ब्राह्मणों को छोड़कर सबका स्वामी है।” यह विचार किसके थे?

  1. मनु
  2. गौतम
  3. याज्ञवल्क्य
  4. व्यास

 

Answer :–  2.   गौतम

 

Notes :—  “राजा ब्राह्मणों को छोड़कर सबका स्वामी है।” यह विचार गौतम  धर्मसूत्र का था। गौतम धर्मसूत्र की रचना गौतम ऋषि ने की। गौतम धर्मसूत्र हिन्दू धर्म के चार धर्मसूत्रो नें से सबसे पुराना प्रामाणिक और श्रेष्ठ है।

*********************************************************

Que. 08  किस चोल राजा ने मालदीव को जीता?

  1. राजराज
  2. राजेंद्र चोल I
  3. राजेंद्र चोल II
  4. राजराज II

 

 

Answer :–  1.  राजराज

 

 

Notes :—  राजराज चोल चोल वंश का एक प्रमुख राजा था। उसकी समुद्री सेना 12000 की थी।उसने श्रीलंका और मालदीव को जीतकर अपनी समुद्री शक्ति का परिचय दिया था। इसके अलावा उसने कलिंग को भी जीता। चोल वंश तीसरी सदी से 11 वीं सदी तक राज्य करने वाला दक्षिण भारत का एक प्रमुख वंश था।

*********************************************************

Que. 09   कल्पद्रुम की रचना किसने की?

  1. कालिदास
  2. लक्ष्मीधर
  3. सर्वेश
  4. सदल मिश्र

 

 

Answer :–  2.   लक्ष्मीधर

 

 

Notes :—  कल्पद्रुम की रचना लक्ष्मीधर ने की। वह गड़हवाल वंश का मंत्री था। गड़हवाल वंश कन्नौज का राजपूत क्षत्रिय वंश था। इसका महान राजा गोविंदचंद था और अंतिम राजा जयचंद था जो मुहम्मद गोरी से लड़ते हुए मारा गया।

*********************************************************

 

Que. 10   अशोक के ब्राह्मी शिलालेख को सर्वप्रथम किसने पढ़ा?

  1. जेम्स प्रिंसेप
  2. मैक्समूलर
  3. कॉर्निंगहम
  4. इनमें से कोई नहीं

 

 

Answer :–  1.  जेम्स प्रिंसेप

 

 

Notes :—  जेम्स प्रिंसेप (1799 – 1840) एक इंग्लिश विद्वान था। वह यंग बंगाल आंदोलन का प्रारम्भक था। उसने सर्वप्रथम अशोक के शिलालेखों को पढ़ा और सर्वप्रथम उसने ही ब्राह्मी लिपि को पढ़ा। 

*************************************************************************

 

 

Leave a Comment